Friday, August 17, 2012

विकास दर से ज्यादा रह सकती है महंगाई दर


इस वित्त वर्ष में देश की जीडीपी विकास दर से ज्यादा महंगाई बढ़ेगी। प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष सी रंगराजन जीडीपी विकास दर का अनुमान 8 फीसदी से घटाकर 6.7 फीसदी कर दिया है।

देश की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं हैं। आखिरकार सरकार ने भी इस बात को मान लिया है। प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद ने वित्त वर्ष 2012- 2013 में जीडीपी विकास दर 6.7 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। जबकि इससे पहले प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद के अध्यक्ष सी रंगराजन ने इस वित्त वर्ष में 7.5 से 8 फीसदी विकास दर रहने का अनुमान लगाया था।

इसके साथ ही सरकार ने माना है कि इस साल  महंगाई दर से लोगों को निजात नहीं मिल पाएगी। क्योंकि इस वित्त वर्ष में महंगाई दर 6.5-7 फीसदी रह सकती है। राजकोषीय घाटा कम करने के लिए सी रंगराजन ने डीज़ल पर दी जाने वाली सब्सिडी को हटाने की वकालत की है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी माना है कि खराब मॉनसून और दुनियाभर की आर्थिक परिस्थितियों का असर भारत की आर्थिक विकास पर दिखाई देगा।

मूडीज, स्टैडर्ड एंड पुअर्स जैसे कई अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसियों ने पहले ही भारत की आर्थिक विकास दर का अनुमान घटा दिया है। जिसको मानने के लिए सरकार तैयार नहीं हो रही थी लेकिन अब सरकार को भी आखिरकार अनुमान घटाने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

No comments: